500+ Love Shayari To Express Your True Emotions.

by:

For HerFor HimLoveShayari

Love Shayari For Him

It’s always good to show your love and affection to your partner. It increases mutual trust and makes your bond stronger. Believe us, these lines will be amazing to be shared with him right now…

299

दिल में कुछ नहीं आज यादों के सिवा,
आँखों में कुछ नहीं आपकी तस्वीर के सिवा,
मत छोड़ना साथ कभी हमारा…
ज़िन्दगी में कुछ नहीं है आपके प्यार के सिवा.

Dil me kuch nahi aaj yaadon ke siva,
Aankhon me kuch nahi aapki tasvir ke siva,
Mat chorna sath kabhi hamara…
Zindagi me kuch nahi hai apke pyar ke siva.
Love shayari for him - dil mein kuch nahin aaj yaadon ke siwa...

300

ढूंढने पर वही वापस मिलेंगे जो खो गए थे…
वो नहीं जो बदल गए हैं…

Dhoondhne par wahi wapas milenge jo kho gaye the…
Wo nahi jo badal gaye hain…

301

मेरी साँसों पर बस नाम तुम्हारा है
में अगर खुश हूँ तो एहसान तुम्हारा है

Meri saanso par bas naam tumhara hai
Mein agar khush hun toh ehsaan tumhara hai

302

दूरियों के साये में पलती नहीं “मोहब्बतें” ….
हाथों में हाथ हों तो लकीरें मिल ही जाती हैं ….♥

Dooriyoon K Saaaye Mein Palti Nahi “Mohabbatein….
Hathon Mein Hath Hon To Lakeeren Mil Hi Jati Hain…. ♥
Love shayari for him - Dooriyon ke saaye mein palti nahi mohabbatein...

303

पूछ कर देख लेना सुबह या शाम से…
यह दिल धड़कता है तो सिर्फ तेरे ही नाम से…

Pooch kar dekh lena subah ya shaam se…
Yeh dil dhadakta hai to sirf tere hi naam se…

304

अजीब सा शिकवा रहता है तुम्हे मुझसे…. मुझे तुमसे ….
तुम्हे उल्फ़त नहीं मुझसे…मुझे नफ़रत नहीं तुमसे…

Ajeeb Sa Shikwa Rehta Hai Tumhe Mujhse…Mujhe Tumse…
Tumhe Ulfat Nahi Mujhse…Mujhe Nafrat Nahi Tumse….
Love shayari for him - Ajeeb sa shikwa rehta hai tumhe mujhse...mujhe tumse...

305

तल्ख़ियों में ढल ना जाये वस्ल को उकटाहटें,
थक गए हो तो चलो फिर से जुदा हो कर मिलें…!!!

Talkhiyon mein dhal na jaye wasl ko uktahatein,
Thak gaye ho to chalo phir se juda ho kar milein…!!!

306

इतना भी ना चाहो उसे…
वो बेवफा हो जायेगा…

Itna bhi naa chaaho use…
Wo bewafaaa ho jayega…

307

कहानी नहीं पूरी ज़िंदगानी चाहिए…
तुझसा नहीं सिर्फ तू ही चाहिए…

Kahani nahi poori zindagani chahiye…
Tujhsa nahi sirf tu hi chahiye…

308

तरस जाओगे हमारे लबों से सुनने को एक एक लफ्ज़,
प्यार की बात तो क्या हम शिकायत भी ना करेंगे ।

Taras jaoge humare labon se sunne ko ek ek lafz,
Pyaar ki baat toh kya hum shikayat bhi na karenge.

309

मैं तुझे क्यों वास्ता दूँ वापिस लौट आने का,
आखिर तू भी तो ये जानता था के मुझे तेरे बिन जीना नहीं आता ….

Main tujhe kyo waasta dun waapis laut aane ka,
Aakhir tu bhi to ye janta tha ke mujhe tere bin jeena nahi aata…..

310

बहुत ख़ास हो तुम ,
जिक्र हर बार जरूरी तो नहीं

Bohot khas ho tum
Zikr har bar zaruri to nahi
Love shayari for him - bohot khas ho tum zikr har bar zaruri to nahi...

311

इश्क़ का उम्र से कोई लेना देना नहीं साहब
यह तो शय है…जितनी पुराणी उतनी नशीली.

Ishq ka umra se koi lena dena nahi saahab
Yeh to shey hai…jitni purani utni nasheeli.

312

मैं उसकी हूँ, वो यह राज़ जानता है,
वो किसका है, ये सवाल मुझे सोने नहीं देता…

Main uski hoon, wo yeh raaz jaanta hai,
Wo kiska hai, ye sawal mujhe sone nahi deta…
Love shayari for him - Main uski hoon, wo yeh raaz jaanta hai....

313

चुपके से आकर इस दिल में उतर जाते हो,
साँसों में मेरी खुशबु बन के बिखर जाते हो…
कुछ यूँ चला है तेरे इश्क़ का जादू,
सोते जागते तुम ही तुम नज़र आते हो…

Chupke se aakar is dil me utar jaate ho,
Saanso me meri khushboo ban ke bikhar jaate ho…
Kuch yun chala hai tere ishq ka jaadu,
Sote jaagte tum hi tum nazar aate ho…

314

मोहब्बत की तालीम दिल की किताबों से होती है,
किसी इज़हार की नहीं मोहताज, नज़रों से बयां होती है…

Mohabbat ki Taaleem Dil ki Kitaabon Se Hoti Hai,
Kisi izhaar ki nahi Mohtaj, Nazron se bayan Hoti hai…

315

जो कहते हैं सोच कर मोहब्बत किया करो…
उन्हें कौन समझाए सोच कर तो साजिश होती है मोहब्बत नहीं…

Jo kehte hain soch kar mohabbat kiya karo…
Unhe kon samjhaye soch kar to sajish hoti hai mohabbat nahi…

316

उदासियों और गमो से वाबस्ता है ये ज़िन्दगी मेरी,
खुदा गवाह है के फिर भी तुझे मैं याद करती हूँ…..

Udasiyo aur gumo se wabasta hai ye zindgi meri,
Khuda gawah hai ke phir bhi tujhe main yaad karti hu…..
Love shayari for him - udasiyo aur gumo se wabasta hai ye zindagi meri...

317

फिक्र तो मुझे हर वक़्त रहती है तेरी,
मजबूरी यह है, न बता सकते हैं ना जता सकते हैं…

Fiqr to mujhe har waqt rehti hai teri,
Majboori yeh hai, na bata sakte hain naa jata sakte hain…

318

शिकायत बस इतनी थी मेरी…
“वो मुझे याद नहीं करते”
और उनकी ये की…
“हम बेवजह उन्हें याद करते हैं”

Shikayat bas itni thi meri…
“Wo mujhe yaad nahi karte”
Aur unki ye ki…
“Hum bewajah unhe yaad karte hain”

319

मैं आदत हूँ उसकी वो जरुरत है मेरी,
मैं फ़रमाइश हूँ उसकी वो इबादत है
मेरी….
इतनी आसानी से कैसे निकाल दू उसे दिल से,
मैं खाव्ब हूँ उसका वो हक़ीक़त है
मेरी………..

Main Aadat hu uski Wo Jarurt Hai Meri,
Main Farmaish Hoon Uski Wo ibadhat Hai
Meri….
Itni aasani se Kaise Nikaal Du use Dil Se,
Main Khawb hu Uska Wo Haqiqat hai
Meri………..

320

तन्हाई में तस्वीर तेरी दिल से लगा कर,
मैंने कहा सौ बार, क्या तुझे भी है मुझसे प्यार???

Tanhai Me Tasveer Teri DiL Se Laga kar,
Maine kaha sao Baar, kya tujhe bhi hai mujhse pyar???

321

उस को चाहा भी तो इज़हार न करना
आया…..
कट गयी उम्र, पर प्यार भी
हमें करना न आया….
उस ने मांगी भी तो हम से जुदाई
मांगी ……..
और हम थे की हमें इनकार भी
न करना आया.!!!!!!!!!

Us ko chaha bhi to izhaar na karna
aaya…..
kat gayi umar, par pyar bhi
hamein karna na aaya….
us ne maangi bhi to hum se judaai
maangi ……..
or hum the ke humein inkaar bhi
na karna aaya.!!!!!!!!!

322

जिसको माँगा है मैंने अपनी हर दुआ में…
मेरा वही मासूम सा प्यार हो तुम…

Jisko manga hai maine apni har dua mein…
Mera wahi maasoom sa pyar ho tum…

323

तमाम उम्र गुज़ार देंगे हम राह-इ-इंतज़ार में,
झूठा ही सही पर आने का एक वादा तो कर…

Tamaam umra guzaar denge hum raah-e-intezaar mein,
Jhootha hi sahi par aane ka ek wada to kar…
Love shayari for him - tamaam umra guzaar denge hum raan-e-entezaar mein...

324

दोस्ती है, इश्क़ है, या कुछ और…पता नहीं,
पर जो तुमसे है वो किसी और से नहीं…

Dosti hai, ishq hai, ya kuch aur…pata nahin,
Par jo tumse hai wo kisi aur se nahin…

325

एक पल का एहसास बनकर आते हो तुम
दूसरे ही पल ख्वाब बनकर उड़ जाते हो तुम
जानते हो की लगता है डर तन्हाइयों से
फ़िर भी तनहा छोड़ जाते हो तुम

Ek pal ka ehsaas bankar aate ho tum
Dusre hi pal khwab bankar udh jaate ho tum
Jaante ho ki lagta hai dar tanhaiyon se
Fir bhi tanha chor jaate ho tum

326

कुछ तो सोचा होगा क़ायनात ने तेरे-मेरे रिश्ते पर
वरना इतनी बड़ी दुनिया में तुझसे यूँ ही मुलाक़ात ना होती.

Kuch to socha hoga qaynaat ne tere-mere rishtey par
Warna itni badi duniya me tujhse yun hi mulaqaat naa hoti.
Love shayari for him - kuch to socha hoga qaynaat ne tere-mere rishtey par...

327

मै उस से हमेशा ये कहती हू कि मेरी एक ख्वाहिश है,
मै कुछ ऐसे पहचानी जाऊँ , तेरे नाम से जानी जाऊँ…..

Mai Us se Hamesha Ye Kehti Hu Ki Meri Ek Khwahish Hai,
Mai Kuch Aise Pehchani Jaun, Tere Naam Se Jani Jaun…..

328

वो कहता था तेरे ज़िस्म का साया हूँ मैं ,
शायद इस ही लिये अंधेरों में साथ छोड़ दिया …

Wo kehta tha tere jism ka saya hu mein,
Shayad is hi liye Andheron me sath chor diya…

329

दिल की क़ीमत तो मोहब्बत के सिवा कुछ ना थी ,
जो भी मिले सूरत के खरीदार मिले …

Dil ki qeemat to mohabbat ke siwa kuch na thi,
Jo bhi mile surat ke khareedar miley…

330

बर्बाद होने के तो और भी रास्ते थे,
ना जाने मुझे मोहब्बत का ही ख्याल क्यु आया..

Barbaad hone ke to Aur Bhi Raste The,
Naa jane Mujhe Mohabbat Ka Hi Khayal Qyu Aya..

331

तुम मेरे हो ऐसी जिद हम नहीं करेंगे,
हम सिर्फ तुम्हारे हैं, ये बात हम हक़ से कहेंगे…

Tum mere ho aisi zid hum nahi karenge,
Hum sirf tumhare hain, ye baat hum haq se kahenge…

332

अभी तो चन्द लफ़्ज़ों में समेटा है तुझे मैंने,
अभी तो मेरी किताबों में तेरी तफ़्सीर बाक़ी है…….

Aвнι Tσ Cнαη∂ Lαƒzση Mє Sαмαιтα Hαι Tυנнє Mєιηє,
Aвнι Tσ Mєяι Kιтαвση Mє Tєяι Tαƒѕєєя Bααqι Hαι…….

333

उसकी मासूमियत में इतना असर था की. .
खरीद ली उसने एक मुलाक़ात में ज़िन्दगी मेरी. . .

Uski Maasoomiyat mein itna asar tha ki. .
Khareed li usne ek mulaqat mein Zindagi meri. . .
Love shayari for him - uski masoomiyat mein itna asar tha ki...

334

मिलती ही नहीं मुझे गम-ऐ-दुनिया क लिए फुर्सत….
सोएं तो ख्वाब उन के, जागें तो ख्याल उन के….!!! ♥ ♥

Milti Hi Nahi Mujhe Gum-ae-Duniya K Liye Fursat….
Soyen To Khwaab Un Ke, Jagein To Khayal Un ke….!!! ♥ ♥

335

खुदा करे वह मेरा नसीब हो जाये,
जितना दूर है मुझसे, उतना ही करीब हो जाये…

Khuda kare woh mera naseeb ho jaye,
Jitna dur hai mujhse, utna hi kareeb ho jaye…

336

इश्क़ में दीवानगी की हादसे गुज़र जाऊं…
तेरे प्यार में आज में जीकर मर जाऊं

Ishq Mein Deewangi Ki Hadse Guzar Jaoon…
Tere Pyaar Mein Aaj Mein Jeekar Maar Jaoon

337

हुस्न ना मांग नसीब मांग ऐ दोस्त ,
हुस्न वाले तो अक्सर नसीब वालो के गुलाम हुआ करते हैं !!!

Husn na maang Naseeb maang Ae Dost,
Husn waale toh aksar Naseeb walo ke gulam hua karte hai!!!

338

तुम जो ज़िन्दगी में आए हो , आसमान की रंगत बदल गई ,
तुम्हें पाने की चाह में मेरी , अब तो फितरत ही बदल गई…!!!

Tum jo jindagi mein aaye ho, aasmaan ki rangat badal gayi,
Tumhein paane ki chah mein meri, ab to fitrat hi badal gayi…!!!
Love shayari for him - tum jo zindagi mein aaye ho...

339

दिल में मोहब्बत का होना ज़रूरी है,’यारो’
वरना याद तो रोज दुश्मन भी किया करते हैं !!

Dil me mohabbat ka hona zar0ri hai,’YaarO’
Warna yaad to roz dushman bhi kiya karte hain !!

340

माना के तेरा वक़्त क़ीमती है, ख़ास है ,
हम भी नायाब है ये तूने ही तो कहा था …!!!

Mana k tera waqt Qeemti hai, khaas hai,
Hum bhi naayab hai ye tune hi to kaha tha…

341

उस की यादों में, उस की बातों में,
कहीं मेरा अक्स भी झिलमिलता होगा.
लाख मशरूफ होगा अपने कामों में,
फिर भी हमें सोच कर कभी तो मुस्कराता होगा !!

Us ki yaadon mein, us ki baaton mein,
Kahin mera aks bhi jhilmilata hoga.
Laakh mashroof hoga apne kaamon mein,
Phir bhi hamein soch kar kabhi to muskurata hoga !!

342

जाओ जीत का ज़श्न मनाओ ,
मैं झूठी हूँ तुम सच्चे हो …

Jao Jeet Ka Jashn Manao,
Main Jhooti Hu Tum Sache Ho…

343

और तो कुछ नहीं किया, तेरे बाद हमने ….
हाँ ! अपना हाल तबाह कर रखा है ….!

Aur To Kuch Nahi Kiya,Tere Baad Hamne…
Haan! Apna Haal Tabaah Kar Rakha Hai…!
Love shayari for him - aur to kuch nahi kiya....

344

अपनी हार में कितना सुकून था …
उस शख़्स ने जब गले लगाया जीतने के बाद …!!!

Apni Haar Main kitna Sukoon tha …
Us Shakhs Ne Jab Gale Lagaya Jeetne Ke Baad ..!!!

345

सब मुझे ही कहते हैं कि तू उसको भूल जा ,
कोई उसे क्यों नहीं कहता कि वो मेरा हो जाए।

Sab Mujhe Hi Kehte Hain Ke Tu Usko Bhool Ja..
Koi Usay Kyun Nahi Kehta Ke Woh Mera Ho Jaye…!!!

346

शायद मुझे सुकून तेरे पास ही मिले
मुझको गले लगा लो बोहोत बेक़रार हूं !! ♥

Shaayad Mujhe Sukoon Tere Paas Hi Mile
MujhKo Gale Laga Lo Bohat Beqaraar Hun !! ♥

347

उदासियों और ग़मों से बेवास्ता है ये ज़िन्दगी मेरी,
खुदा गवाह है कि फिर भी मैं तुझे याद करती हूँ।

Udasiyon Aur Gumon Se Bewasta Hai Ye Zindgi Meri,
Khuda Gawah hai Ki Phir Bhi Main Tujhe Yaad Karti Hun…

348

मेरा दर्द तो सिर्फ मैं जानती हूँ
तुमने तो सिर्फ मेरी मुस्कान देखी है

Mera Dard To Sirf Mein Janti Hun
Tumne To Sirf Meri Muskan Dekhi Hai
Love shayari for him - mera dard to sirf mein janti hun...

349

इश्क़ होठों से तो होता नहीं बयां,
इसलिये प्यार में आँखे बनी ज़ुबाँ।

Ishq hothon se toh hota nahi bayaan,
Iss liye pyaar mein aankhein bani zubaan.

350

मोहब्बत में खुदा से और क्या मांगू तेरे लिए,
बस इतनी दुआ है कि तू दुआओं का भी मोहताज़ ना हो।

Mohabbat mein khuda se or kya mangu tere liye,
Bas Itni Dua hai k tu duaon ka bhi mohtaaj Na ho.

Prev Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *