Satya Vachan on Life : जीवन के बेहतरीन सत्य वचन – Truth Quotes on Life

Satya Vachan on Life: आपके लिए आज हम जीवन के बेहतरीन सत्य वचन लेकर आये हैं, जिन्हें पढ़कर आप अपने दिन की शुरुआत कर सकते हैं एवं अपने जीवन में इन वचनों को उतारने का प्रयास कर सकते हैं. ये Truth Quotes on Life आपको जीवन के हर पड़ाव में काफी मददगार साबित होंगे.

इसके साथ ही आप हमारे अन्य अनमोल वचन भी पढ़ सकते हैं.

Satya Vachan on Life

मोह खत्म होते ही खोने का डर भी निकल जाता है चाहे दौलत हो,वस्तु हो, रिश्ता हो, या जिंदगी..!!!

Moh khatma hote hi khone ka darr bhi nikal jata hai chahe daulat ho, vastu ho, rishta ho, ya zindagi..!!!

भरोसा जीता जाता है, मांगा नहीं जाता। ये वो दौलत है जिसे पाया जाता है कमाया नहीं जाता।

Bharosa jeeta jaata hai, manga nahin jata. Ye wo daulat hai jise paya jata hai kamaya nahi jata.

जो हमेशा कहे “मेरे पास समय नहीं है,” वो व्यस्त नहीं बल्कि अस्त-व्यस्त होता है।

Jo humesha kahe “Mere pass samay nahin hai,” wo vyast nahin asta-vyast hota hai.

जिन्हें आपको गलत ही समझना है वो लोग आपके मौन का भी गलत अर्थ निकाल ही लेंगे।

Jinhe aapko galat hi samajhna hai wo log aapke maon ka bhi galat arth nikal hi lenge.

संतुष्ट मन इस विश्व का सबसे बडा धन है!

Santusht man is vishwa ka sabse bada dhan hai.

“प्रशंसा” झूठी हो सकती है लेकिन “ईर्ष्या” कभी झूठी नहीं होती।

Prashansa jhoothi ho sakti hai lekin irshya kabhi jhoothi nahin hoti.

सुख के लालच में ही नए “दुःख” का जन्म होता है।

Sukh ke lalach main hi naye “Dukh” ka janma hota hai.

कीमत दोनों की चुकानी पड़ती है, बोलने की भी और चुप रहने की भी…!!

Keemat dono ki chukani padti hai, bolne ke bhi aur chup rehne ki bhi.

सत्य केवल उनके लिए ही कड़वा होता है जो लोग झूठ में रहने के आदी हो चुके हो।

Satya keval unke liye hi kadwa hota hai jo log jhooth main rehne ke aadi ho chuke ho.

कुछ सहन करना भी सीखना चाहिए, क्योंकि हममें भी ऐसी बहुत सी कमियां हैं जिन्हें दूसरे सहन करते हैं।

Kuch sehan karna bhi seekhna chahiye, kyoki humme bhi aisi bahut se kamiyan hain jinhe dusre sehan karte hain.

सबसे बुरा है उम्मीद का मर जाना और इससे भी ज्यादा बुरा है झूठी उम्मीद का जिन्दा रहना।

Sabse bura hai ummeed ka mar jana aur isse bhi bura hai jhoothi ummeed ka zinda rehna.

प्रतिष्ठा बनाने में कई वर्ष लग जाते है, कलंक एक क्षण में लग जाता है।

Pratishtha banane me kai varsh lag jaate hai, kalank ek kshanh main lag jata hai.

क्रोध मूर्खता से शुरू होता है और पछतावे पर खत्म होता है।

Krodh murkhta se shuru hota hai aur pachtave par khatma hota hai.

मनुष्य को श्रेष्ठता मिलती है उसके संस्कारों से पर सिद्ध होते है उसकी व्यवहारों से ।

Manushya ko shreshthta milti hai uske sanskaro se par siddha hoti hai uske vyavharon se.

मोह में हम बुराइयाँ नहीं देख पाते और घृणा में हम अच्छाईयां नहीं देख पाते।

Moh main hum buraiya nahin dekh pate aur ghrina main hum acchaiyan nahin dekh pate.

अगर किसी बच्चे को उपहार ना दिया जाए तो वह कुछ देर रोएगा मगर संस्कार न दिए जाए तो जीवन भर रोएगा।

Agar kisi bacche ko uphar na diya jaaye to wah kuch der royega magar sanskar na diye jaaye to jeevan bhar royega.

जब भी तुम्हारा “हौंसला” आसमान तक जाएगा, याद रखना कोई ना कोई पंख काटने जरुर आएगा।

Jab bhi tumhara “Honsla” aasman tak jaayega, yaad rakhna koi na koi pankh kaatne jarur aayega.

चिंता इतनी करो कि काम हो जाये इतनी नहीं कि जिंदगी तमाम हो जाये।

Chinta itni karo ke kaam ho jaaye itni nahin ke zindagi tamam ho jaaye.

शरीर जल से पवित्र होता हैं और मन सत्य से, बुद्धि ज्ञान से और आत्मा धर्म से!

Sharir jal se pavitra hota hai aur man satya se, buddhi gyan se aur aatma dharm se.

परमात्मा भाग्य नहीं लिखता। जीवन के हर कदम पर हमारी सोच, हमारे बोल तथा हमारे कर्म ही हमारा भाग्य लिखते हैं।

Parmatma bhagya nahin likhta. Jeevan ke har kadam par hamari soch, hamare bol tatha hamare karma hi hamara bhagya likhte hain.

सादगी से बढ़कर कोई श्रृंगार नहीं होता और विनम्रता से बढ़कर कोई व्यवहार नहीं होता।

Saadgi se badhkar koi shringar nahin hota aur vinamrata se badhkar koi vyavhar nahin hota.

“दीपक” इसलिये वंदनीय है क्योकि वह दूसरों “के” लिए जलता है दूसरों “से” नहीं जलता ॥

“Deepak” isliye vandaniya hai kyoki wo dusro “ke” liye jalta hai dusro “se” nahin jalta.

हर किमती चीज को उठाने के लिये झुकना ही पडता है, माँ और पिता का आशिर्वाद भी इन मे से एक हैं !

Har keemati cheez ko uthane ke liye jhukna hi padta hai, Maa aur pita ka ashirwad bhi inme se ek hai.

आसानी से मिलने वाली चीज हमेशा नहीं रहती,
जो हमेशा रहती है वो आसानी से नहीं मिलती।

Aasani se milne wali cheez hamesha nahin rehti,
Jo hamesha rehti hai wo aasani se nahin milti.

मनुष्य के लिए बुरी संगत उस कोयले के समान है जो गर्म हो तो हाथ जला देता है और ठंडा हो तो हाथ काले कर देता है।

Manushya ke liye buri sangat us koyale ke saman hai jo garm ho to haath jala deta hai aur thanda ho to haath kaale kar deta hai.

Leave a Comment